झारखंड में सीओ ऑफिसर (CO officer Kaise Bane) पूरी जानकारी

झारखंड में co Officer kaise bane तो चलिए मैं अपको बताता हुं की आप co कैसे बन सकते है और उसके लिया क्या क्या qualification  चाहिए ?, exam पैटर्न क्या होता है,syallbus क्या होता है? co का  कार्य क्या  होता है ? कितना सैलरी होता हैं? और co क्या होता है ? इन सभी चीजों के बारे में पूरी जानकारी के साथ इस आर्टिकल के माध्यम से जान सकते हैं इसलिए इस आर्टिकल को ध्यान  से और अंत तक जरूर पढ़ें।

Jharkhand में,कोडरमा, बोकारो, धनबाद, आदि ज़िला में सरकार के द्वारा पुलिस क्षेत्र में Co के पद का निर्माण किया गया है, जो राज्य सरकार के आदेशों का पालन करता है और अपने निश्चित क्षेत्र में कानून व्यवस्था को नियंत्रित करने का काम करता है।आज के समय में एक सरकारी नौकरी लेना बहुत ही कठिन होता है।

jharkhand mein co officer kaise bane details in hindi
Jharkhand mein CO officer kaise bane details in Hindi

झारखंड में CO officer Kaise Bane? – How To Become CO in Jharkhand

CO ऑफिसर का फुल फॉर्म क्या होता है?

सीओ का फुल फॉर्म अंचल अधिकारी या अनुमंडल अधिकारी(circle officer) होता है।

CO officer क्या होता है?

सीओ को अंचलाधिकारी या अनुमंडल अधिकारी( circle officer) भी कहते हैं यह sp के नीचे स्तर पर होता है और dsp के रैंक पर होता है। किसी क्षेत्र यह तहसीलदार का मुख्य अधिकारी होता है जो की जमीन से संबंधित कार्य संभालता है और उस तहसीलदार के अंतर्गत  जितने भी थाने आते हैं वो  अंचल अधिकारी के अंडर में काम करते हैं। उसे co कहते हैं।

जरूर पढ़े –

co officer कैसे बन सकते हैं?

सीओ आप दो तरीके से बन सकते हैं। जैसे:–पुलिस इंस्पेक्टर प्रमोशन होने के बाद co officer  बन सकते हैं। और दूसरा jpsc exam दे के।

झारखंड में CO बनने के लिए क्या– क्या qualification चाहिए? – CO Qualification in Hindi

  • Circle officer बनने के लिए canidatesको किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक (Under Graduation) पास होना अनिवार्य है
  • candidates  जिस राज्य में co बनना चाहता है उस राज्य की आधिकारिक व क्षेत्रीय भाषा सीखने, समझने, बोलने, लिखने की कुशलता भी उसमे होनी चाहिए

झारखंड में  CO बनने  के लिए  क्या Exam level होता है? CO Exam Level

Exam level 3 स्तर पर होता है:

  1. Premils exam (प्रारंभिक परीक्षा):यह प्रथम चरण का लिखित परीक्षा होता है इसमें 2 पेपर होते हैं और दोनों पेपर 200 मार्क्स के होते हैं इसमें objective type के क्वेश्चन पूछे जाते हैं।
  2. Mains exam (मुख्य परीक्षा): या दूसरा चरण का परीक्षा होता है इसमें 8 पेपर होते हैं और 1500 मार्क्स के होते हैं प्रारंभिक परीक्षा से यह परीक्षा कठिन होता है या एग्जाम Descriptive type के प्रश्न पूछे जाते हैं।
  3. Interview exam(साक्षात्कार परीक्षा): यह तीसरा चरण का परीक्षा होता है इसमें आप प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा सफल होने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए कुछ अधिकारियों के द्वारा बुलाया जाता है और आपसे कुछ प्रश्न पूछे जाते हैं जिसका आपको उत्तर देना होता है यह एग्जाम मौखिक में होता है आप इस इंटरव्यू के सफल होने के बाद आपका नाम मेरिट लिस्ट में आ जाता है और आपका सीओ का सिलेक्शन हो जाता है

झारखंड में CO बनने के लिए क्या Age limit है? – CO Age Requirement?

सीओ बनने के लि किसी भी Candidates का आयु 21 वर्ष और अधिकतम वायु 37 वर्ष तक होना चाहिए। साथ में आरक्षित वर्ग के candidates को नियमानुसार अधिकतम उम्र की सीमा में general (female) और obc (male/female) को 3 वर्ष एवं St/Sc candidate को 5 वर्ष तक की छूट है।

झारखंड में CO का सैलरी कितना होता है? – CO Salary in Jharkhand

अंचल अधिकारी के रूप से आपको शुरुआती मानसिक वेतन 9300 से 34800 रुपए, साथ में 4800 ग्रेड पर दिया जाता है। इन सब के अतिरिक्त विभिन्न प्रकार के Allowances जैसे की  DA, HRA इत्यादि भी मिलता है और ये वेतन हर एक राज्य में अलग-अलग हो सकता है।

CO officer का प्रमोशन (Promotion) कैसे होता है?

CO officer का प्रमोशन जब आप अपने क्षेत्र में बेहतरीन तरीके से काम करवाते हैं तो आपको ऊंचे पद का पोस्ट मिलता है। इस प्रकार से:

  • अंचलाधिकारी – 4800 GP (लेवल-8)
  • भूमि सुधार उप समाहर्ता- 5400 GP (लेवल – 9 )
  • जिला भू अर्जन पदाधिकारी – 6600 GP (लेवल- 11)
  • अपर समाहर्ता – 7600P (लेवल-12)

ारखंड में Co Officer का कार्य क्या होता है? – CO Officer work in hindi

Circle officer किसी अनुमंडल क्षेत्र का अधिकारी होता है. Co को उस क्षेत्र की सभी जिम्मेदारियां दी जाती है, जिस क्षेत्र में वह कार्यरत होता है. किसी अनुमंडल क्षेत्र की सभी कार्यों की देखरेख करते है तथा कार्यों को पूरा करवाता है. और अपने क्षेत्र  की जरूरत को पूरा करवाते है। क्षेत्र के विकास के लिए सरकार की तरफ से फण्ड मिलता है

सरकारी फण्ड से क्षेत्र की जरूरत को पूरा करवाता है. यदि किसी भी कारण  कार्य पूरा नहीं हो पाता है, तो उसकी जिम्मेदारी c0 officer की होती है।इसके  अलावा भी co officer के कई सारे अलग- अलग काम होते हैं जो की एक CO Officer को करने होते हैं कई बार इतने कार्य को एक अधिकारी द्वारा करने में काफी परेशानी हो सकती हैं

जिसके कारण सरकार ने इनकी मदद के लिए अन्य पदाधिकारी भी नियुक्त किया हैं जो की इनके अंदर काम करते है.डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (DM)पुलिस अधिकारीनगर निगम अधिकारी यह अधकारी अपने पद के अनुसार अलग अलग कार्य को संभालते हैं और इनको इनके पद के अनुसार अलग अलग क्षेत्र में काम दिया जाता है.

CO officer का सेलेक्शन कैसे होता है? – CO Officer ka Selection Kaise Hota Hai

सीओ ऑफिस का सेलेक्शन लोकसेवा आयोग के द्वारा आयोजित किया जाता है जो JPCS (Jharkhand public service commission)  के माध्यम से होता है Provincial civil service(pcs) एग्जाम को तीन स्तर पर आयोजित किया जाता है।1.प्रमिल्स 2. मैंस 3. इन्टरव्यू

  • सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा लिखित पास करना होता है।
  • उसके बाद मुख्य परीक्षा लिखित पास करना होता है।
  • उसके बाद प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा लिखित पास होने के बाद इंटरव्यू क्लियर करना होता है।
  • इंटरव्यू सफल होने के बाद candidates का मैरिड बनता है।
  • मैरिट के आधार पर Co officer का सेलेक्शन होता है।
  • उसके बाद परीक्षण पूर्ण पूरी होने के बाद Circle officer या आंचल अधिकारी के लिए नियुक्त किया जाता है।

झारखंड में CO बनने के लिए क्या सिलेबस होता हैं? – CO Officer Exam Syllabus 

General studies syallbus:–विज्ञान, अर्थशास्त्र, अंतरराष्ट्रीय संबंध, राजनीति, भूगोल, कला और संस्कृति, आधुनिक एवं इतिहास, सरकारी नीतियां और पहल, मध्यकालीन इतिहास, पर्यावरण और पारिस्थितिक, संस्था, और आजादी के बाद का इतिहास आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

Civil service Aptitude test में;-10th लेवल की गणित(जिसमें अंकगणित, रेखागणित, संख्यकी अंग्रेजी)।

Hindi:–सामान्य बौद्धिक योग्यता, logical and analytical ability decision making and problem-solving comprehensive.

29 सब्जेक्ट लिस्ट: कृषि, प्राणी विज्ञान, रसायन विज्ञान ,भौतिक विज्ञान ,गणित, भूगोल ,अर्थशास्त्र ,समाजशास्त्र, दर्शनशास्त्र, भूविज्ञान ,मनोविज्ञानी ,वनस्पति विज्ञान, पशुपालन एवं पशु चिकित्सा विज्ञान,  इतिहास ,हिंदी साहित्य, अंग्रेजी साहित्य, उर्दू साहित्य, स्कृतिक साहित्य, विद्युत अभियांत्रिकी ,सिविल अभियांत्रिकी, प्रबंधन, राजनीतिक विज्ञान और अंतरराष्ट्रीय संबंध, चिकित्सा विज्ञान ,लोक प्रशासन, वाणिज्य एवं लेखांकन, नू विज्ञान,आदि से प्रश्न पूछे जाते है।

Conclusion

मैं इस आर्टिकल में आपको बताया कि Jharkhand Mein CO officer Kaise Bane और क्या क्या qualifications चाहिए क्या सिलेबस होते हैं कितनी सैलरी होती है और सीओ ऑफिसर का क्या कार्य होता है एग्जाम पैटर्न किस तरह  का होता है यह सब आप से मैं जिक्र किया इस आर्टिकल को पढ़कर आपको कैसा लगा कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं और CO ऑफिसर के बारे में या इससे संबंधित और कुछ जानकारी चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

धन्यवाद!

Sharing Is Caring: